देश में कोरोना वायरस से हालात काफी खराब, कम्युनिटी स्प्रेड शुरू: IMA
July 20, 2020 • Admin

" alt="" aria-hidden="true" />

https://news.google.com/publications/CAAqBwgKMK_emQsw2eixAw
 

नई दिल्ली. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का कहर भारत में थमने का नाम नहीं ले रहा है। भारत में रोज कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं जिससे देश में संक्रमित मरीजों की संख्या 10 लाख के पार चली गई है। वहीं इस वायरस से 26 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। कोरोना के मरीजों के मामले में भारत दुनिया में तीसरे स्थान पर पहुंच चुका है।

ASE News latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news latest news
इन सबके बीच इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) का कहना है कि भारत में कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड शुरू हो गया है। आईएमए के मुताबिक देश में कोरोना से हालात काफी खराब हो गए हैं।
IMA हॉस्पिटल बोर्ड ऑफ इंडिया के चेयरपर्सन डॉ. वी. के. मोंगा का कहना है कि देश में कोरोना के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है, जो बेहद खतरनाक स्थिति है। डॉ मोंगा के मुताबिक कि भारत में हर दिन 30 हजार से ज्यादा मामले आ रहे हैं और यह देश के लिए बहुत ही खराब स्थिति है क्योंकि अब वायरस ग्रामीण इलाकों में फैल रहा है जोकि काफी यह बुरा संकेत है और यह कम्युनिटी स्प्रेड दिख रहा है। डॉ. मोंगा के मुताबिक दिल्ली में इसको कंट्रोल कर लिया, लेकिन महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, गोवा और मध्य प्रदेश के दूरवर्ती इलाकों स्थिति ठीक नहीं है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय लगातार यही कहता आ रहा है कि भारत में अब तक कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड शुरू नहीं हुआ है, ऐसे में डॉ. मोंगा का यह बयान बेहद अहम है। डॉ मोंगा से पहले कई हेल्थ एक्सपर्ट भी कह चुके हैं कि भारत में कोरोना कम्युनिटी स्प्रेड शुरू हो गया है। अमेरिका और ब्राजील के बाद कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज भारत में हैं। डॉ मोंगा ने केंद्र और राज्य सरकारों को ज्यादा से ज्यादा सावधानियां बरतनें की सलाह दी है।